'हरयाणा' से हमारा तात्पर्य दिल्ली चारों ओर फैले एक विशिष्ट सांस्कृतिक क्षेत्र से है, प्राचीन समय में जिसकी सीमायें उत्तर में - सतलुज नदी, पूर्व में - हिमालय की तराई से बरेली, दक्षिण में - चम्बल नदी की घाटियों तथा पश्चिम में - गंगानगर से ग्वालियर तक फैली हुई थी. वर्त्तमान में इसके अंतर्गत हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, हरित प्रदेश (पश्चिमी उत्तर प्रदेश), ब्रज, राजस्थान के कुछ इलाके आते हैं।

रेडियो बोल हरयाणा

बाजण दयो

बोल हरयाणा


हरयाणवी संस्कृति विश्व की सबसे प्राचीन और गौरवशाली संस्कृति है। परंतु आज पाश्चात्यकरण, वर्तमान में कुछ गायकों द्वारा परोसी जाने वाली फूहड़ता और मीडिया के अवधान के अभाव में हमारी संस्कृति विलुप्तता के कगार पर पहुँच चुकी है।

ऐसी स्थिति में संस्कृति संरक्षण का बीड़ा उठा कुछ नौजवानों ने समाज के गण्यमान्य व्यक्तियों के मार्गदर्शन में बोल हरयाणा सांस्कृतिक मंच की स्थापना अपनी बोली, संस्कृति और कला के प्रचार-प्रसार एवं सांस्कृतिक प्रदूषण से बचाने हेतु की है।

हमारा उद्देश्य समाज के सभी वर्गों के कलाकारों, बुद्धिजीवियों और सामाजिक कार्यकर्ताओ को सुझाव, सहयोग व सम्मान देकर संस्कृति संरक्षण के लिए प्रोत्साहित करना है। हम एक ऐसा मंच बनाने के लिए प्रयासरत है जिसके द्वारा संस्कृति संरक्षण के साथ साथ सूचना, मनोरंजन, संगीत, शिक्षा और सामाजिक कल्याण के कार्यक्रम आयोजित किए जा सकें। जिस प्रकार संस्कृति की कोई निश्चित सीमा नहीं होती उसी प्रकार हमारा कार्यक्षेत्र भी बहुत विस्तृत है जिसे मुख्यतः तीन श्रेणियों में रखा जा सकता है।

हरयाणवी कला एवं संगीत

हरयाणा की विभिन्न नर्त्य शैलियों, वाद्य यंत्रो और गायन शैलियों की पहचान करना। नये गीत लिखवाना और स्वरबद्ध करवाना। लोक गीतों को नयी तकनीक के माध्यम से रेकोर्ड करवाना। समय समय पर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करना।

सांस्कृतिक अन्वेक्षण

हरयाणा के इतिहास, भूगोल, जीवनशैली और सांस्कृतिक विशेषताओं को पहचानना, संरक्षण करना और जनसाधारण तक पहुँचाना। हरयाणा में जन्मे महापुरुषों के विचारों व जीवन मूल्यों को समझना-समझाना, हरयाणवी बोली का प्रसार करना एवं इसे वह सम्मान दिलाना जिसकी यह हक़दार है।

सामाजिक कल्याण

पर्यावरण संरक्षण के लिए जागरूकता अभियान चलाना, चौपाल स्तर पर युवाओं के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य व रोज़गार सम्बंधी जानकारी उपलब्ध कराना, आपसी भाईचारे को बढ़ावा देने हेतु समाज के सभी वर्गों को जोड़ने वाले कार्यक्रम आयोजित करना।

Our Team


View all Team

मिलाओ हाथ


हम आपको संस्कृति प्रचार-प्रसार और सामाजिक कल्याण के कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए आमंत्रित करते हैं। हमारी मुहिम से जुड़ने के लिए वालंटियर फ़ोरम भर कर भेजें।
नवीनतम जानकारी के लिए हमें फ़ेस्बुक और यूटूब पर फ़ॉलो करें

+61-4770-44444