Privacy


हरयाणवी संस्कृति विश्व की सबसे प्राचीन और गौरवशाली संस्कृति है। परंतु आज पाश्चात्यकरण, वर्तमान में कुछ गायकों द्वारा परोसी जाने वाली फूहड़ता और मीडिया के अवधान के अभाव में हमारी संस्कृति विलुप्तता के कगार पर पहुँच चुकी है।

ऐसी स्थिति में संस्कृति संरक्षण का बीड़ा उठा कुछ नौजवानों ने समाज के गण्यमान्य व्यक्तियों के मार्गदर्शन में बोल हरयाणा सांस्कृतिक मंच की स्थापना अपनी बोली, संस्कृति और कला के प्रचार-प्रसार एवं सांस्कृतिक प्रदूषण से बचाने हेतु की है।

हमारा उद्देश्य समाज के सभी वर्गों के कलाकारों, बुद्धिजीवियों और सामाजिक कार्यकर्ताओ को सुझाव, सहयोग व सम्मान देकर संस्कृति संरक्षण के लिए प्रोत्साहित करना है। हम एक ऐसा मंच बनाने के लिए प्रयासरत है जिसके द्वारा संस्कृति संरक्षण के साथ साथ सूचना, मनोरंजन, संगीत, शिक्षा और सामाजिक कल्याण के कार्यक्रम आयोजित किए जा सकें। जिस प्रकार संस्कृति की कोई निश्चित सीमा नहीं होती उसी प्रकार हमारा कार्यक्षेत्र भी बहुत विस्तृत है जिसे मुख्यतः तीन श्रेणियों में रखा जा सकता है।

मिलाओ हाथ


हम आपको संस्कृति प्रचार-प्रसार और सामाजिक कल्याण के कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए आमंत्रित करते हैं। हमारी मुहिम से जुड़ने के लिए वालंटियर फ़ोरम भर कर भेजें।
नवीनतम जानकारी के लिए हमें फ़ेस्बुक और यूटूब पर फ़ॉलो करें

+61-4770-44444